मिट्टी के दीपक जलाकर दीपावली मनाए- जिला कलक्टर

पेंशनरों का वार्षिक भौतिक सत्यापन 31 दिसम्बर तक
Advertisement
Advertisement

सिरोही। दीपावली के त्यौहार पर जिला कलक्टर डॉ भंवर लाल ने आमजन को अपील जारी कर कहा कि मिट्टी के दीपक जलाकर दीपावली मनाए। जिला कलक्टर ने कहा कि दीपावली दीपों का त्यौहार हैं, दीपावली का अर्थ ही होता है दीपों की कतार, लेकिन आज के आधुनिक युग ने इस त्योहार को बदल कर रख दिया है। वो दीपक कहीं खो से गये हैं जो वास्तव में इस त्यौहार की आत्मा हैं अब उनकी जगह कृत्रिम दीपकों ने ले ली है। दीपावली के पावन पर्व के दीपोत्सव को हम एवं हमारे पूर्वज सदियों से मना रहे हैं इस दीपावली मिट्टी के दीपक का अधिकाधिक उपयोग कर न केवल पर्व को शोभा बढेगी लेकिन मिट्टी के दीप बनाने वाले लोगों को आजिविकोपार्जन में हम सहायक बन सके। वहीं पर्यावरण में जो कृत्रिम दीपक का उपयोग करने से पर्यावरण प्रदुषण होने का खतरा भी बढने की संभावना हैं।
उन्होंने कहा कि ऐसा कहा जाता है कि दीपक जलाने से वातावरण में सकारात्मकता उर्जा आती है। दीपक का प्रकाश जितनी जगह पर जाता है, वहां से नकारात्मकता दूर हो जाती है। इसके अलावा दीपक की जलती लौ व्यक्ति को जीवन में आगे बढऩे का संदेश देती है। इससे हमें अपने जीवन का अंधकार मिटाने की भी सीख मिलती है। आइये, इस दीपावली एक बार फिर हम अपने बचपन की ओर लौटें और मिट्टी के दीपकों से इस जग को रौशन करें, मिट्टी के दीपक जलाकर द्वीपोत्सव मनावे। दीप वही जलता है जहाँ स्नेह का संचार हो।

Leave a Reply

%d bloggers like this:
Verified by MonsterInsights